उत्तर कोरिया से रिश्ते तोड़ने के अमेरिकी आह्वान को रूस ने नकारा

0
60
Advertisement Goes Here!

रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने उत्तर कोरिया के साथ संबंध तोड़ने के वॉशिंगटन के आह्वान को खारिज कर दिया. उन्होंने बेलारूस की राजधानी मिन्‍स्‍क में पत्रकारों से कहा, ‘‘हम इसे नकारात्मक ढंग से देखते हैं.’’

मास्को: रूस ने उत्तर कोरिया से संबंध तोड़ने के अमेरिका के आह्वान को गुरुवार (30 नवंबर) को खारिज कर दिया और कहा कि वॉशिंगटन प्योंगयांग के नेता किम जोंग उन को भड़काने के लिए सबकुछ कर रहा है. वाशिंगटन ने बुधवार (29 नवंबर) को चेतावनी दी थी कि यदि युद्ध हुआ तो उत्तर कोरियाई नेतृत्व ‘‘पूरी तरह से नष्ट हो जायेगा’’. उसने देशों से उत्तर कोरिया से सभी राजनयिक और व्यापारिक संबंध खत्म करने का आह्वान किया था. उत्तर कोरिया ने हाल में अपना तीसरा आईसीबीएम परीक्षण किया था और दावा किया था कि वह अमेरिका में किसी भी जगह हमला करने में सक्षम है.

रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने उत्तर कोरिया के साथ संबंध तोड़ने के वॉशिंगटन के आह्वान को खारिज कर दिया. उन्होंने बेलारूस की राजधानी मिन्‍स्‍क में पत्रकारों से कहा, ‘‘हम इसे नकारात्मक ढंग से देखते हैं.’’ उन्होंने अमेरिका पर किम जोंग-उन शासन को भड़काने का प्रयास करने का आरोप लगाया और इस बात का पता लगाये जाने की मांग की  कहीं अमेरिका इस देश को नष्ट करने की साजिश तो नहीं रच रहा है.

इससे पहले अमेरिका ने उत्तर कोरिया को चेतावनी दी कि यदि युद्ध हुआ तो उत्तर कोरिया पूरी तरह नष्ट हो जाएगा. अमेरिका ने चीन से इस दिशा में कदम उठाने तथा उत्तर कोरिया के साथ तेल आपूर्ति बंद कर उस पर दबाव बनाने का आग्रह किया. संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की स्थाई प्रतिनिधि निक्की हेली ने सुरक्षा परिषद को बुधवार (29 नवंबर) को बताया कि उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग मिसाइल परीक्षणों और परमाणु उकसावे के जरिए विश्व को युद्ध के मुहाने पर ले जा रहे हैं.

उन्होंने कहा, “हमने उत्तर कोरिया के साथ कभी युद्ध नहीं चाहा. यदि युद्ध होता है तो कोई गलती नहीं करते हुए इसे पूरी तरह से नष्ट कर दिया जाएगा.” हेली ने कहा कि कई देशों ने उत्तर कोरिया पर कड़े प्रतिबंध लगाने के लिए आर्थिक बलिदान दिए हैं और उन्होंने प्योंगयांग को सबक सिखाने की पूरी जिम्मेदारी चीन के कंधों पर डाल दी.

हेली ने कहा, “अब हम राष्ट्रपति शी जिनपिंग की ओर देख रहे हैं कि वह क्या कदम उठाते हैं.” हेली ने कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शी जिनपिंग को फोन कर उत्तर कोरिया के साथ तेल आपूर्ति बंद करने को कहा है. उन्होंने कहा, “चीन यह खुद कर सकता है या फिर हम तेल के मुद्दे को अपने हाथों में ले सकते हैं.”

Ref:-zeenews.india.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here