Advertisement Goes Here!

बैंकों में लोगों का पैसा सुरक्षित है, ऐसी अफवाहों पर ध्यान न दें जनता,उन्होंने कहा कि इस समय लोगों की आकांक्षाएं जिस स्तर पर है. लोग देश की आंतरिक बुराइयों, भ्रष्टाचार और कालेधन से परेशान हो चुके हैं. उन्हें इससे छुटकारा पाना है.

नई दिल्ली/भारत: फिक्की के 90वें एजीएम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आम आदमी को पिछले 60 साल के दौरान काफी परेशानियां झेलनी पड़ी थीं. पीएम मोदी ने फिक्की के 90 साल पूरे होने पर सभी को न सिर्फ बधाई दी, बल्कि इस दौरान फिक्की की प्रासंगिकता पर अपनी टिप्पणी की. पीएम ने कार्यक्रम के दौरान कहा कि हम एक पारदर्शी माहौल तैयार कर रहे हैं.उन्होंने कहा कि एफआरडीआई बिल को लेकर अफवाहें फैलाई जा रही हैं. सरकार ग्राहकों के हित को सुरक्ष‍ित करने के लिए लगातार काम कर रही है. खबरें ठीक इसके विपरित चलाई जा रही हैं. आम नागारिकों को भ्रमित करने से रोकने में फिक्की की अहम भूमिका जरूरी है. पीएम ने कहा कि बैंकों में जमा लोगों का पैसा बिल्कुल सुरक्षित है. कुछ लोग अफवाहें फैला रहे हैं, जिसपर ध्यान देने की जरूरत नहीं है.उन्होंने कहा कि इस समय लोगों की आकांक्षाएं जिस स्तर पर है. लोग देश की आंतरिक बुराइयों, भ्रष्टाचार और कालेधन से परेशान हो चुके हैं. उन्हें इससे छुटकारा दिलाना है. इसलिए आज चाहे कोई राजनीतिक दल हो या फिक्की जैसा कोई संगठन हो इन्हें चाहिए कि ये अपनी भावी रणनीति केा इस हिसाब से बनाएं.


पीएम मोदी ने कहा कि आम लोगों को पिछले 60 साल के दौरान काफी परेशानियां झेलनी पड़ी थीं. लोगों को अपने छोटे-मोटे काम के लिए दफ्तरों के चक्कर काटने पड़ते थे और दर-दर भटकना पड़ता था. मगर लोगों की समस्या से निजात दिलाने के लिए हमारी सरकार काम कर रही है और हम एक पारदर्शी माहौल तैयार कर रहे हैं. पीएम मोदी ने जनधन योजना को लेकर कहा कि जनधन योजना को लोगों से अपार समर्थन प्राप्त हुआ. जब ये योजना शुरू हुई थी तो हम लक्ष्य तय नहीं कर पाए थे कि कितने गरीबों के बैंक खाते खोलने हैं. हमारे पास ऐसा कोई डाटा नहीं था, जिससे हमें गरीबों का पता चल सके.पीएम मोदी ने कहा कि हमें ये पता था कि गरीबों को बैंक के दरवाजे से लौटा दिया जाता है. आज जब मैं देखता हूं कि जनधन के माध्यम से 30 करोड़ से ज्यादा गरीबों ने अपने बैंक के खाते खुलवाए हैं तो लगता है कि गरीबों की कितनी बड़ी जरूरत को हम पूरा कर पाए हैं. उन्होंने कहा कि अध्ययन में ये बात सामने आई है कि ग्रामीण क्षेत्रों में जहां ऐसे खाते ज्यादा खुले हैं, वहां महंगाई दर में कमी आई है. साथ ही उन्होंने कहा कि उज्वला योजना के बाद फ्यूल इंफलेशन में भी काफी मात्रा में गिरावट आई है. अब गरीब को ईंधन पर कम खर्च करने पड़ते हैं. हमने 3 करोड़ से ज्यादा को महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्शन दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here