Benjamin etanyahu
Advertisement Goes Here!

नई दिल्ली/भारतः– इजरायल के PM Benjamin Netanyahu भारत के 6 दिन के यात्रा पर भारत आए हुय है| 15 सालों में यह पहला मौका है जब इजरायल के प्रधानमंत्री भारत दौरे पर आए हैं. इससे पहले वर्ष 2003 में इजरायल के तत्कालीन प्रधानमंत्री एरियल शेरोन भारत आए थे. नेतन्याहू ऐसे मौके पर भारत आ रहे हैं जब दोनों देशों के कूटनीतिक संबंधों ने 25 वर्ष पूरे किए हैं. नेतन्याहू का स्वागत करने के लिए खुद पीएम मोदी प्रोटोकॉल तोड़कर एयरपोर्ट पहुंचे. एयरपोर्ट पर पीएम मोदी ने नेतन्याहू को गले लगाकर स्वागत किया. इसके बाद दोनों नेताओं ने एक साथ हाथ उठाकर दोनों देशों के प्रगाढ़ रिश्तों का संकेत दिया और दिल्ली के तीन मूर्ति मार्ग के लिए रवाना हो गए.प्रधानमंत्री मोदी के साथ एयरपोर्ट से इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू सीधे तीन मूर्ति मार्ग पहुंचे. दिल्ली के तीन मूर्ति मेमोरियल पर आयोजित एक कार्यक्रम में शिरकत करते हुए नेतन्याहू ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी. इस मौके पर नेतन्याहू के साथ उनकी पत्नी सारा भी मौजूद थी.

यह भी पढे:- पहली बार SC के पूर्व जज केटी थामस ने बोला की ,संविधान और आर्मी के बाद RSS ही देशवासियों की रक्षा करता है.

भारत यात्रा पर Benjamin etanyahu गुजरात में पीएम मोदी और सीएम रूपाणी के साथ गुजरात की राजधानी अहमदाबाद में रोड शो हो सकता है. अहमदाबाद यात्रा के दौरान दोनों नेता दो सेंटर आफ एक्सीलेंस का दौरा करेंगे और ऐसे ही एक अन्य केंद्र का उद्घाटन करेंगे.बेंजामिन के भारत दौरे के दौरान दोनों देशों के बीच 445 करोड़ रु. के जमीन से हवा में मार करने वाली 131 मिसाइलों समेत अन्य समझौते पर हस्ताक्षर होने की संभावना जताई जा रही है. इसके साथ-साथ माना जा रहा है कि दोनों देश व्यापार एवं रक्षा जैसे प्रमुख क्षेत्रों में सहयोग मजबूत करने के लिए भी किसी करार पर हामी भर सकते हैं. आधिकारिक सूत्रों की मानें तो केंद्र सरकार अब सरकार के स्तर पर इजरायल से मिसाइल खरीदने पर गौर कर रही हैं. सूत्रों का कहना है कि इजरायल से करार भी उसी तरीके से होगा जैसे कि फ्रांस से हुआ था. बता दें कि भारत ने फ्रांस से 36 राफेल जेट खरीदने का सौदा किया हुआ है.विदेश मंत्रालय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नेतान्याहू सोमावार को बैठक करेंगे जिसमें विभिन्न मुद्दों पर बातचीत होगी तथा सहयोग के नये अवसर तलाशे जाएंगे.इसका मकसद दोनों देशों के बीच विशेष संबंधों को नई ऊंचाई पर ले जाना है.

Source:- zeenew,Ani

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here