Lalu prasad yadav
Advertisement Goes Here!

CBI Court के जज साहब ने बहस के दौरान लालू से बोले की,आपके लिए बहुत लोगो ने सिफारिस की है,लेकिन मै कानून का पालन करूंगा.

रांची/भारत : CBI Court के जज साहब ने बहस के दौरान लालू से बोला की,आपके लिए बहुत लोगो ने सिफारिस की है,लेकिन मै कानून का पालन करूंगा.चारा घोटाले से जुड़े देवघर कोषागार से 89 लाख़, 27 हजार रुपये की अवैध निकासी के मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव, आर के राणा, जगदीश शर्मा एवं तीन पूर्व आईएएस अधिकारियों समेत 16 दोषियों की सजा की अवधि पर अदालत ने फैसला शुक्रवार तक के लिए स्थगित कर दिया है. इसी बीच, गुरुवार को बहस के दौरान स्पेशल सीबीआई कोर्ट के जज शिवपाल सिंह ने लालू प्रसाद यादव से कहा कि मुझसे कई लोगों आपके लिए सिफारिशें कीं लेकिन मैं कानून का पालन करूंगा.


यह भी पढे:- पहली बार SC के पूर्व जज केटी थामस ने बोला की ,संविधान और आर्मी के बाद RSS ही देशवासियों की रक्षा करता है .

लालू की अदालत में पेशी को लेकर बिरसा मुंडा जेल से विशेष अदालत तक सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए थे. बाद में लालू विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत से निकल कर चारा घोटाले के दो अन्य मामलों में पेशी के लिए गए और फिर वापस बिरसा मुंडा जेल चले गए. अदालत ने इस मामले में 22 आरोपियों में से 16 आरोपियों को दोषी करार देने के बाद उन्हें हिरासत में लेकर बिरसामुंडा जेल भेजने के निर्देश दिए थे.इससे पहले बुधवार को जैसे ही अदालत की कार्यवाही शुरू हुई थी रांची बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने अदालत को सूचित किया था कि उनके सहयोगी बिंदेश्वरी प्रसाद का निधन हो गया है लिहाजा दोपहर बाद वकील अदालती कार्यवाही में हिस्सा नहीं लेंगे. जिन आरोपियों को अदालत ने चारा घोटाले के इस मामले में दोषी करार दिया है, उनमें बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव, आर के राणा, जगदीश शर्मा, तीन आइएएस अधिकारी तत्कालीन वित्त आयुक्त फूलचंद सिंह, पशुपालन विभाग के तत्कालीन सचिव बेक जूलियस एवं एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी महेश प्रसाद भी शामिल हैं.लालू प्रसाद यादव ने जेल जाने से पहले कहा था कि उन्हें राजनीतिक साजिश के तहत फंसाया गया है और इस फैसले के खिलाफ वह उच्च न्यायालय जाएंगे जहां उन्हें अवश्य न्याय मिलेगा. उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here