chara ghotala
Advertisement Goes Here!

 

रांची/भारत:– Chara ghotala मे बिहार के पूर्व मुख्य मंत्री Lalu yadav यादव सहित 16 लोग दोसी करार, इसके अलावा कोर्ट ने राज्‍य के पूर्व मुख्‍यमंत्री जगन्‍नाथ मिश्रा समेत 6 अन्‍य आरोपियों को अदालत ने बरी कर दिया. फैसले के बाद मिश्रा ने कोर्ट के बाहर कहा ‘उन्‍हें न्‍याय मिल गया है’.लालू प्रसाद यादव रांची जेल जाएंगे |1990 के बाद जो भी प्रोपेर्ट लालू यादव ने अर्जित की है वो भी जब्त हो सकता है|सीबीआई की विसेष अदालत ने ये आदेश पारित किया है ,कोर्ट से सीधे जेल जाएंगे Lalu yadav| ये केस देवघर कोसाधार का है जिसमे मे ये आदेश आया है|

यह भी पढे:- विजय रूपाणी ही होंगे गुजरात के मुख्‍यमंत्री और नितिन पटेल होंगे उप मुख्‍यमंत्री, विधायक मंडल ने लिया फैसला

रांची की सीबीआई स्‍पेशल कोर्ट के जज शिवपाल सिंह की अदालत ने आज Chara ghotala मे अहम फैसला सुनाया. इस दौरान लालू के साथ अदालत में उनके बेटे तेजस्‍वी यादव, आरजेडी नेता अब्‍दुल बारी सिद्दीकी एवं अन्‍य नेता, समर्थक मौजूद रहे. दोषी ठहराए जाने के बाद लालू, उनके पुत्र एवं अन्‍य नेता एवं समर्थक बेहद तनाव में नजर आए. इस मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव, पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा, विद्यासागर निषाद, आर के राणा, जगदीश शर्मा, ध्रुव भगत, समेत 22 लोग आरोपी थे. इससे पहले चाईबासा कोषागार से 37 करोड़, 70 लाख रुपये की अवैध ढंग से निकासी करने के चारा घोटाले के एक अन्य मामले में इन सभी को सजा हो चुकी है.

यह भी पढे:- एक नर्दलीय विधायक के समर्थन से बीजेपी का आकडा अब हो गया 100:- Gujarat Elections 2017

देवघर कोषागार से फर्जीवाड़ा करके अवैध ढंग से धन निकालने के इस मामले में लालू प्रसाद यादव एवं अन्य के खिलाफ सीबीआई ने आपराधिक साजिश, गबन, फर्जीवाड़ा, साक्ष्य छिपाने, पद के दुरुपयोग आदि से जुड़ी आईपीसी की धाराओं 120बी, 409, 418, 420, 467, 468, 471, 477 ए, 201, 511 के साथ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 13 :1 (डी) एवं 13 (2) के तहत मुकदमा दर्ज किया था. सीबीआई के अधिकारियों ने बताया कि इस मामले में गबन की धारा 409 में दस वर्ष तक की और धारा 467 के तहत तो आजीवन कारावास की भी सजा हो सकती है.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here