election-commision
Advertisement Goes Here!

नई दिल्ली/भारत: चुनाव आयोग ने राहुल गांधी के द्वारा गुजरात में टीवी चैनलों को उनके द्वारा दिए गए साक्षात्कार के मामले में उनसे 18 दिसंबर शाम 5 बजे तक इस बात का जवाब देने को कहा और पूछा कि क्यों न उनके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाए, गुजरात में दूसरे चरण के विधानसभा चुनाव की पूर्व संध्या पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उद्योग संगठन फिक्की के कार्यक्रम को संबोधित करने को लेकर कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग से उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. कांग्रेस की इस शिकायत से कुछ समय पहले ही चुनाव आयोग ने पार्टी के नवनिर्वाचित अध्यक्ष राहुल गांधी को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए गुजरात में टीवी चैनलों को उनके द्वारा दिए गए साक्षात्कार के मामले में उनसे 18 दिसंबर तक जवाब मांगा. बीजेपी नेता पीयूष गोयल ने इंटरव्यू दिखाने की शिकायत आयोग से की थी. चुनाव आयोग ने राहुल गांधी को 18 दिसंबर शाम 5 बजे तक इस बात का जवाब देने को कहा है कि क्यों न उनके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाए.इसके बाद कांग्रेस नेता अशोक गहलोत, आनंद शर्मा एवं रणदीप सुरजेवाला के नेतृत्व में पार्टी के एक समूह ने चुनाव आयोग जाकर ज्ञापन सौंपा तथा गुजरात में दूसरे चरण के मतदान की पूर्व संध्या पर संवाददाता सम्मेलन एवं अन्य कार्यक्रम सबोधित करने के कारण पीएम मोदी एवं अन्य भाजपा नेताओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की. कांग्रेस के ज्ञापन में कहा गया कि निष्पक्ष बने रहना चुनाव आयोग का दायित्व है. हम खेदपूर्वक कहना पड़ रहा है कि ऐसा प्रतीत होता है कि सत्तारूढ़ दल को लेकर पक्षपात किया गया. ज्ञापन में चुनाव आयोग से यह भी अनुरोध किया गया कि वह राहुल गांधी का साक्षात्कार प्रसारित करने वाले समाचार चैनलों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के अपने आदेश को वापस लें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here