Advertisement Goes Here!

गुजरात चुनाव के पहले चरण में कच्छ, सौराष्‍ट्र और दक्षिणी गुजरात की सीटों पर मतदान हो रहा है. पहले चरण में जिन दिग्गजों की किस्मत का फैसला होना है उनमें राज्‍य के BJP के मुख्‍यमंत्री विजय रूपाणी और कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल प्रमुख है. 

गांधीनग/भारत:- गुजरात विधानसभा की 182 में से 89 सीटों पर पहले फेज के लिए शनिवार को सुबह 8 बजे से वोटिंग शुरू हो गई है। वोटिंग दक्षिण गुजरात और सौराष्ट्र के 19 जिलों में शाम 5 बजे तक होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी ने लोगों से ट्वीट कर ज्यादा से ज्यादा तादाद में वोट करने की अपील की है। सीएम विजय रूपाणी ने वोट डालने के बाद कहा कि वह जीत को लेकर कॉन्फिडेंट हैं। हमें किसी से भी चुनौती नहीं मिल रही है।

Gujarat Election पिक्चर 2017:-:

इलेक्शन अपडेट्स:

10: 01 AM: भरुच के एक पोलिंग बूथ पर एक ऐसा कपल वोट डालने पहुंचा जिसकी आज शादी है।

9: 57 AM: कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोयल ने कहा- “बीजेपी ने विकास का झूठा मॉडल तैयार किया है, जिसे लोग समझ चुके हैं और उनमें बीजेपी के खिलाफ गुस्सा है।”

 8:30 AM:न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, गुजरात चुनाव के पहले फेज में 24,689 पोलिंग स्टेशनों में 27,158 ईवीएम मशीनों का इस्तेमाल किया जा रहा है।

 8:24 AM:राहुल गांधी ने ट्वीट कर लोगों से वोट करने की अपील की- “मतदाताओं की भागीदारी लोकतंत्र की आत्मा होती है। गुजरात चुनाव में पहली बार वोट डाल रहे युवा साथियों का बहुत स्वागत और अभिनंदन। गुजरात की जनता से अपील है कि भारी संख्या में मतदान कर लोकतंत्र के इस पर्व को सफल बनाएं।”

 8:10 AM:बीजेपी के गुजरात अध्यक्ष जीतूभाई वघानी ने भावनगर में डाला वोट।

 8:05 AM:सीएम विजय रूपाणी ने राजकोट वेस्ट में वोट डाला।

 8:00 AM: पीएम मोदी ने किया ट्वीट, कहा- “गुजरात में पहले चरण का मतदान शुरू हो गया है। सभी से अपील है कि रिकॉर्ड नंबरों में सामने आएं और वोट करें। मैं खासकर युवाओं से अपील करता हूं कि अपने अधिकार का प्रयोग करें।”

पहले फेज में कहां-कहां वोटिंग होगी?

पहले फेज में दो क्षेत्रों में वोटिंग होनी है। पहला सौराष्ट्र-कच्छ और दूसरा दक्षिण गुजरात। इन दोनों क्षेत्रों में अभी बीजेपी के पास 63 और कांग्रेस के पास 22 सीटें हैं। कांग्रेस को दक्षिण गुजरात से ज्यादा कामयाबी उम्मीद है। यहां राहुल गांधी ने जमकर प्रचार किया है।

गुजरात में कुल सीटें: 182

पहले फेज में वोटिंग: 89 सीटों पर

कैंडिडेट्स: 977 (57 महिलाएं)

स्थान: 14,155

पोलिंग बूथ: 24,689

पहले फेज में कास्ट फैक्टर क्या है?

89 में से 24 सीटों पर पाटीदार V/S पाटीदार का मुकाबला 18सीटों पर ओबीसी V/S ओबीसी का मुकाबला।

बीजेपी ने 31 पाटीदार, 21 ओबीसी, 15 सवर्ण, 14 आदिवासी, 8 दलित कैंडिडेट उतारे हैं।

पहले फेज की 89 सीटों में से 32 पर बीजेपी दो टर्म या अधिक से जीत रही है। बीजेपी ने ऐसी सीटों पर उम्मीदवार बदल दिए हैं।

वहीं कांग्रेस ने 27 पाटीदार, 27 ओबीसी, 09 सवर्ण, 14 आदिवासी, 12 दलित-मुस्लिम कैंडिडेट उतारे हैं।

इन 19 जिलों में होगी वोटिंग

पहले फेज में दक्षिण गुजरात और सौराष्ट्र के 19 जिलों की 89 सीट के लिए 9 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे।

ये 19 जिले हैं: कच्छ, सुरेंद्रनगर, मोरबी, राजकोट, जामनगर, देवभूमि द्वारका, पोरबंदर, जूनागढ़, गिर सोमनाथ, अमरेली, भावनगर, बोटाड, नर्मदा, भरूच, सूरत, तापी, डांग, नवसारी, वलसाड।

ये चुनेंगे अगली सरकार

पहले फेज में कुल वोटर: 2 करोड़ 12 लाख 31 हजार 652

पुरुष: 1 करोड़ 11 लाख 5 हजार 933

महिलाएं: 1 करोड़ 1 लाख 25 हजार 472

पहले फेज में इन 5 नेताओं पर रहेगी नजर

विजय रूपाणी, मुख्यमंत्री

ये राजकोट पश्चिम सीट से उम्मीदवार है। उनका मुकाबला कांग्रेस उम्मीदवार इंद्रनील राजगुरु से है। राजगुरु गुजरात के सबसे अमीर कैंडिडेट हैं। उनके पास कुल 141 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी है।

जीतू वाघाणी, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष

वे भावनगर पश्चिम सीट से कैंडिडेट हैं। उनका मुकाबला कांग्रेस के दिलीप सिंह गोहिल से है।

बाबू बोखिरिया

ये बीजेपी के कद्दावर नेताओं में शामिल हैं। पोरबंदर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। इनका मुकाबला कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अर्जुन मोढवाडिया से है।

शक्ति सिंह गोहिल

गुजरात कांग्रेस के प्रमुख नेताओं में शामिल हैं। मांडवी सीट से उम्मीदवार हैं। इनका मुकाबला वीरेंद्र सिंह जडेजा से है।

ललित वसोया

कांग्रेस ने हार्दिक पटेल के समर्थकों को दो सीटों पर जगह दी है। इनमें से एक सीट धोरजी पर वसोया लड़ रहे हैं। वे पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति से जुड़े हैं। दिलचस्प बात यह है कि उनका मुकाबला बीजेपी के हरिलाल माधवजीभाई पटेल से है, जो पोरबंदर से लोकसभा सदस्य हैं।

89 में से कितनी सीटें किसके पास

सीट बीजेपी कांग्रेस अन्य
सौराष्ट्र-कच्छ 54 35 16 3
दक्षिण गुजरात 35 28 6 1
कुल 89 63 22 4

89 सीटों पर क्या है कास्ट फैक्टर?

सौराष्ट्र-कच्छ में राज्य के 33 में से 12 जिले आते हैं। यहां पाटीदार और कोली समाज की आबादी करीब 40 फीसदी है। बाकी ओबीसी, क्षत्रिय और मछुआरा समाज के लोग हैं। दक्षिण गुजरात में सूरत, नवसारी, भरूच, वलसाड, नर्मदा, तापी, डांग जिले हैं। दक्षिण गुजरात में कुल 35 विधानसभा सीटें हैं। इनमें से 28 सीटों पर बीजेपी का कब्जा है। जबकि कांग्रेस के पास सिर्फ 6 सीटें हैं। एक सीट अन्य के पास है। यहां के ज्यादातर वोटर आदिवासी हैं। कई सीटों पर पटेल और कोली जाति का वर्चस्व है। राहुल गांधी ने इस बार दक्षिण गुजरात में पूरी ताकत लगा दी है। इसकी वजह यह कि 90 के दशक तक यह इलाका कांग्रेस का गढ़ रहा था। लेकिन पिछले डेढ़ दशक से इस इलाके में बीजेपी मजबूत हुई है, जैसे सूरत शहर की सभी सीटें बीजेपी के पास हैं।यों के लिए करीब 13100 किमी का सफर तय किया।

कांटे की टक्‍कर
पहले चरण में सबसे जबरदस्त मुकाबला पश्चिम राजकोट में होगा, जहां से मौजूदा मुख्यमंत्री विजय रूपानी जीत कर आए थे. उनको इस बार कांग्रेस उम्मीदवार इंद्रनील राजगुरु चुनौती दे रहे हैं. वह राजकोट पूरब से मौजूदा विधायक हैं. एक और मौजूदा कांग्रेस विधायक परेश धनानी को अमरेली में पूर्व कांग्रेस नेता और वर्तमान में लाठी से भाजपा विधायक चुनौती दे रहे हैं. सौराष्ट्र में बड़ा मुकाबला देखने को मिलेगा, जहां कैबिनेट मंत्री बाबूभाई बोखिरिया और कांग्रेस के अर्जुन मोधवाडिया और पूर्व वित्तमंत्री और ऊर्जा मंत्री सौरभ पटेल चुनाव मैदान में हैं.

क्या है इस चुनाव की अहमियत

गुजरात में 19 साल से BJP सत्ता में, 15 साल में पहली बार मोदी सीएम कैंडिडेट नहीं हैं।पिछले लोकसभा चुनाव के बाद अमित शाह भी केंद्र की राजनीति में एक्टिव हो गए। लेकिन इस साल राज्यसभा के लिए चुने गए।हार्दिक पटेल पाटीदार आंदोलन के जरिए राज्य की इस 12% आबादी पर असर डाल चुके हैं। अब हार्दिक कांग्रेस के सपोर्ट में हैं।राहुल गांधी भी इस चुनाव में काफी एक्टिव हैं। उनका दूसरे फेज की वोटिंग से पहले 11 दिसंबर को पार्टी का प्रेसिडेंट चुना जाना भी तय है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here