blast
Advertisement Goes Here!

नई दिल्ली/भारत:- 2008 मे महाराष्ट्र के मालेगांव में हुए blast मामले में लेफ्टिनेंट कर्नल पुरोहित़़, साध्वी प्रज्ञा के उपेर से MCOCA हटा लिया ग्या है,अब उनके उपर आईपीसी की धारा के हिसाब से केस चलेगा,कोर्ट ने इसके अलावा श्याम साहू, प्रवीण टक्कलकी और रामचंद्र कालसांगरा को बरी कर दिया. 29 सितंबर 2008 को मालेगांव में अंजुमन चौक पर शकील गुड्स ट्रांसपोर्ट कंपनी के सामने बम blast में 6 लोगो की मौत हुई थी और 101 जख्मी हुए थे. धमाका एल एम एल फ्रीडम मोटरसाइकिल में बम ब्लास्ट कर के किया ग्या था. इस संबंध में आजाद नगर पुलिस थाने में मामला भी दर्ज किया गया था. इस मामले में हत्या, हत्या की कोशिश और आपराधिक साजिश के साथ UAPA भी लगाया गया था. बाद में जांच एटीएस को सौंप दी गई थी. एटीएस ने मोटरसाइकिल की चैसीस नम्बर के आधार पर सबसे पहले साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को गिरफ्तार किया. धमाके वाली मोटरसाइकिल साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के नाम से रजिस्टर्ड थी. उसके बाद मेजर रमेश उपाध्याय,स्वामी दयानंद पांडे, और कर्नल प्रसाद श्रीकांत पुरोहित सहित कुल 11 को गिरफ्तार कर लिया गया.

यह भी पढे:- सरकार, रेलवे मे अलग अलग व्यवस्था लाने की कोसिस मे,उसी कड़ी मे अब 30 मिनट पहले तक बुक करा पाएंगे अपना टिकिट

यह भी पढे:- कुछ मुख्य बाते ‘पं मदनमोहन मालवीय जी’ के बारे जाने|

मालेगांव मुंबई से उत्तर में लगभग 300 किलोमीटर दूर है.मस्जिद के पास किए गए इस blast को कांग्रेस ने भगवा आतंकवाद का नाम दिया था.पकड़े गए आरोपियों का ताल्लुक हिंदूवादी संगठनों से बोला जाता  है.  NIA की क्लीनचिट पर पहले साध्वी प्रज्ञा छूटीं, उसके बाद कर्नल पुरोहित. इसी के आधार पर दो और को जमानत मिल गई है. अब आगे देखना होगा की क्या होता है इस केस मे

यह भी पढे:- चारा घोटाला मे लालू यादव दोसी करार,3 जनवरी को सजा का ऐलान संभव|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here