Loc
Advertisement Goes Here!

श्रीनगर/भारत-भारतीय सेना ने एक बार फिर से अपने सनिकों का बदला पाक के 3 सनिकों को मार कर ले लिया है खबर है की भारतीय सेना ने पाक के कब्जे वाले कश्मीर में Loc पार कर पाक सेना के 3 सैनिकों को मार गिराया। और कुछ के घायल होने की खबर भी है|सेना की यह कार्रवाई शनिवार (23 दिसंबर) को पाकिस्तान द्वारा राजौरी में सीजफायर उल्लंघन के बदले में की गई है. पाकिस्तान की तरफ से शनिवार को हुई फायरिंग में भारतीय सेना के एक मेजर सहित चार सैनिक शहीद हो गए थे. ANI के मुताबिक भारतीय सेना ने खूफिया सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर में एलओसी को पार करके रावलकोट के रुख काकरी सेक्टर में जबरदस्त कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान के 3 सैनिकों को मार गिराया है और इस कार्रवाई में कुछ पाकिस्तानी सैनिकों के घायल होने की खबर है. पाकिस्तानी मीडिया मे भी ये खबर है कि भारत की ओर से हुई गोलीबारी में तीन पाकिस्तानी सैनिक मारे गए हैं और कुछ घायल हैं.

अब तक 2017 में 200 से ज्यादा आतंकी मारे गए है
जम्मू-कश्मीर में इस साल सिक्युरिटी फोर्सेज ने ऑपरेशन ऑलआउट के तहत 200 से ज्यादा आतंकियों को मौत के घाट उतारा है। वहीं मुठभेड़ में भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस के भी 75 जवान शहीद हुए। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने बताया कि जनवरी, 2017 से 14 दिसंबर तक जम्मू-कश्मीर में हुई 337 आतंकी घटनाओं में कुल 318 लोगों की मौत हुई। एनकाउंटर में 203 आतंकी ढेर हुए। इस दौरान जम्मू-कश्मीर पुलिस और सेना के 75 जवान शहीद हुए, जबकि आतंकी हमले के दौरान 40 आम नागरिकों की भी जान गई। 91 आतंकियों को घाटी से पकड़ा गया।

यह भी पढे:- जैश कमांडर नूर मोहम्मद को सेना ने मार गिराया है,ऑपरेशन जारी है

क्यो भारतीय सेना ने लिया बदला?
आपको बता दें कि पाकिस्तानी सैनिकों ने 23 दिसंबर को जम्मू कश्मीर में राजौरी जिले के केरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा (Loc) के पास थल सेना के एक गश्ती दल पर शनिवार को गोलीबारी की थी, जिसमें एक मेजर और तीन सैनिक शहीद हो गए थे. अधिकारियों ने बताया कि संघर्ष विराम उल्लंघन की ताजा घटना ऐसे वक्त हुई, जब मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती लोगों की शिकायतें दूर करने के इरादे से राजौरी जिला मुख्यालय में थी. पाकिस्तानी सैनिकों ने दोपहर करीब सवा बारह बजे केरी सेक्टर के ब्रात गल्ला में थल सेना के एक गश्ती दल को निशाना बनाया. पाकिस्तान की तरफ से किए गए इस हमले में सेना के मेजर प्रफुल्ल अम्बादास, लांस नायक गुरमेल सिंह, लांस नायक कुलदीप सिंह और जवान परगट सिंह शहीद हुए थे.