Advertisement Goes Here!

प्योंगयांग : सरकारी समाचारपत्र रोडोंग सिनमुन में प्रकाशित एक आलेख के अनुसार, “अमेरिका के समुद्री नाकाबंदी के कदम को कभी भी बर्दाश्त नहीं किया जा सकता, क्योंकि इससे वे एक स्वतंत्र देश की गरिमा और सम्प्रभुता का उल्लंघन करते हैं”.आलेख में कहा गया, “अमेरिका खुलेआम उत्तर कोरिया के खिलाफ समुद्री नाकाबंदी की कोशिश कर रहा है और शांति के समय में इसकी अर्थव्यवस्था का गला घोंटने की कोशिश कर रहा है. यह उत्तर कोरिया के खिलाफ राजनीतिक और आर्थिक नाकाबंदी बढ़ाने की उसकी चाल है, जो दशकों से चली आ रही है”.

समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, आलेख में कहा गया कि अंतर्राष्ट्रीय संधियों में उल्लेख किया गया है कि शांति के समय किसी देश की आर्थिक नाकाबंदी करना एक गैरकानूनी काम है और इसे आक्रमण माना जाता है. उत्तर कोरिया ने 29 नवंबर को अपना अब तक की सबसे उन्नत अंतरमहाद्वीपीय मिसाइल ह्वासोंग-15 लॉन्‍च किया था.

परिणामस्वरूप अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर नए प्रतिबंध लगाने की चेतावनी दी है. अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन के मुताबिक, इसमें उसके (उत्तर कोरिया) समुद्री परिवहन पर पूरी तरह प्रतिबंध शामिल है.

रेफ:-ज़ी news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here