NKorea ने फिर से एक बार अमेरिका और SKorea को न्यूक्लियर वॉर की धमकी दी है

0
62
Advertisement Goes Here!

NKorea ने फिर से एक बार अमेरिका और SKorea को न्यूक्लियर वॉर की धमकी दी है

सियोल. कोरियाई पेनिंसुला में अमेरिका और साउथ कोरिया की ज्वाइंट मिलिट्री एक्सरसाइज से परेशान नॉर्थ कोरिया ने बुधवार को दोनों देशों को एटमी जंग की धमकी दी है। विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में नॉर्थ कोरिया ने कहा कि अब सवाल ये नहीं है कि इस इलाके में न्यूक्लियर जंग होगी या नहीं, बल्कि अब सवाल ये है कि जंग कब होगी। बता दें कि नॉर्थ कोरिया ने पिछले हफ्ते तीसरी बार इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) टेस्ट किया था। जिसके बाद अमेरिका और साउथ कोरिया दोनों ही कोरियाई पेनिंसुला में सैकड़ों जंगी जहाजों के जरिए अपनी ताकत दिखाने में जुटे हैं।

US पर तानाशाह को बदनाम करने का आरोप

केसीएनए न्यूज एजेंसी से नॉर्थ कोरिया के विदेश मंत्रालय की ओर से दावा किया गया कि अमेरिका के कुछ टॉप आफिशियल्स जंग करने का इरादा रखते हैँ।बीते शनिवार अमेरिकी इंटेलिजेंस एजेंसी सीआईए के डायरेक्टर माइक पोंपियो ने तानाशाह पर बयान देते हुए कहा था कि, वो मानते हैं कि किम जोंग-उन को देश और विदेश में अपनी खतरनाक स्थिति का जरा भी अंदाजा नहीं है।नॉर्थ कोरियाई स्पोक्सपर्सन ने पोंपियो के इस बयान को सुप्रीम लीडर की बेइज्जती और नॉर्थ कोरिया के लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाला बताया।

हमारी सब्र का गलत मतलब न निकाले अमेरिका
विदेश मंत्रालय के स्पोक्सपर्सन ने कहा, “हम जंग नहीं चाहते, लेकिन हम इससे छुप भी नहीं सकते। अगर अमेरिका ने हमारे सब्र का गलत मतलब निकाला और हमें न्यूक्लियर वॉर के लिए भड़काया तो हम अपनी बढ़ती न्यूक्लियर पावर से पक्का करेंगे कि अमेरिका इसकी कीमत चुकाए।

NKorea को डराने के लिए US उड़ा रहा वॉर प्लेन
नॉर्थ कोरिया का ये बयान बुधवार को अमेरिका और साउथ कोरिया की ज्वाइंट मिलिट्री एक्सरसाइज के बाद आया है।
नॉर्थ कोरिया को डराने के लिए अमेरिका साउथ कोरिया के ऊपर से लगातार अपने एडवांस्ड वॉर प्लेन्स उड़ा रहा है।
इससे पहले भी अमेरिका कई बार अपने B-1B बॉम्बर प्लेन्स से नॉर्थ कोरिया को अपनी ताकत दिखा चुका है।
हालांकि, इसके बावजूद नॉर्थ कोरिया अब तक 3 बार इन्टरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) टेस्ट कर चुका है।
माना जा रहा है कि इन टेस्ट्स के बाद नॉर्थ कोरिया अपनी बढ़ती न्यूक्लियर पावर से अमेरिकी मेनलैंड को टार्गेट बना सकता है।

230 से ज्यादा वॉरप्लेन्स ले रहे एक्सरसाइज में हिस्सा
कोरियाई पेनिंसुला में सोमवार से शुरू हुई ज्वाइंट ड्रिल में अमेरिका के एफ-22 और एफ-35 स्टेल्थ जेट फाइटर समेत 230 एयरक्रॉफ्ट शामिल हैं।

इससे पहले अमेरिका अक्टूबर में जापान और साउथ कोरिया के साथ इसके बाद नवंबर में साउथ कोरिया के साथ कोरियाई द्वीप में ज्वाइंट एक्सरसाइज कर चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here