Advertisement Goes Here!

कराची/इस्लामाबाद- पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, क्रिसमस के पहले की तैयारियों में यहां ईसाई कम्युनिटी के लोग इकट्ठा हुए थे। घटना के दौरान सभी लोग प्रेयर कर रहे थे। इसी दौरान दो फिदायीन हमलावर चर्च में घुसे और खुद को उड़ा लिया। पाकिस्तान के अशांत प्रांत बलूचिस्तान की राजधानी क्वेटा में एक चर्च में रविवार को आत्मघाती बम विस्फोट में चार लोगों की मौत हो गई और 25 अन्य लोग घायल हो गए| पुलिस के अनुसार प्रांतीय राजधानी में जारघोन मार्ग स्थित एक चर्च में आतंकवादियों ने उस वक्त हमला किया जब वहां रविवार की प्रार्थना जारी थी. बलूचिस्तान के गृह मंत्री मीर सरफराज बुग्ती ने कहा कि हमले में कम से कम दो हमलावर शामिल थे. उन्होंने कहा, एक हमलावर को पुलिस ने गेट पर ही मार गिराया जबिक दूसरा हमलावर आत्मघाती जैकेट पहने चर्च में दाखिल हो गया, जहां उसने खुद को उड़ा लिया|

बलूचिस्तान के आईजी मोअज्जम अंसारी ने ‘जियो न्यूज’ से कहा कि घटना के वक्त चर्च में 400 से ज्यादा लोग मौजूद थे। इनमें बड़ी तादाद महिलाओं और बच्चों की भी थी। ये सभी लोग क्रिसमस की तैयारियों के सिलिसिले में एक मीटिंग और प्रेयर के लिए आए थे। अंसारी ने कहा कि हमलावर चर्च की पिछली दीवार फांदकर आए। इसके बाद वो चुपचाप आम लोगों के बीच खड़े हुए और बाद में खुद को उड़ा लिया। बलूचिस्तान के होम मिनिस्टर सरफराज बुगती ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। अब तक किसी आतंकी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। पाकिस्तान में क्रिसमस के दौरान चर्चों पर पहले भी हमले हुए हैं।  पाकिस्तानी मीडिया की कुछ खबरों में फायरिंग की बात भी कही गई है। हालांकि, पुलिस या सरकार ने इसकी पुष्टि नहीं की।करीब दो साल पहले क्रिसमस के ही मौके पर इस चर्च पर आतंकी हमला हुआ था। तब इस घटना में दो लोग मारे गए थे।  पुलिस सूत्रों ने कहा कि आतंकी यहां मौजूद लोगों को बंधक बनाने के इरादे से आए थे। चर्च के बाहर एक कार बरामद की गई है, उसमें कई हथियार और खाने-पीने का सामान मिला है। माना जा रहा है कि आतंकियों के कुछ और साथी इस इलाके में मौजूद हो सकते हैं। बुगती ने कहा कि आतंकियों के इरादे बेहद खतरनाक थे लेकिन पुलिस और सिक्युरिटी फोर्सेस ने वक्त रहते एक्शन लिया और साजिश नाकाम कर दी गई। खास बात ये है कि जिस इलाके में यह चर्च है वो क्वेटा का हाई सिक्युरिटी जोन है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here